गायों को लंपी बीमारी से बचाने के लिए आगे आया अदाणी फाउंडेशन

ए.जी.ए.एल. के स्टेशन हेड आलोक चतुर्वेदी जी (वीपी), धवल पारीख (एजीएम) और गोपाल सिंह देवड़ा (सीएसआर हेड, राजस्थान) के संयुक्त प्रयासों से करीब 2500 संक्रमित गायों के इलाज के लिए जरूरी दवाइयों का प्रबंध कराया गया।

गायों को लंपी बीमारी से बचाने के लिए आगे आया अदाणी फाउंडेशन
गायों को लंपी बीमारी से बचाने के लिए आगे आया अदाणी फाउंडेशन

राजस्थान के पशुपालन के क्षेत्र में गाय का स्थान महत्वपूर्ण है। पश्चिमी राजस्थान की अर्थव्यवस्था में गौधन महत्वपूर्ण स्थान रखता है। सदियों से लोग इनके बल पर हर प्रतिकूल परिस्थितियों से लड़ते आ रहे हैं। लेकिन पिछले कुछ महीनों में आई लंपी स्किन रोग से हजारों गायों में संक्रमण फैला एवं सैकड़ों की मृत्यु हो गई।

 

राजस्थान सरकार द्वारा इस रोग के रोकथाम के लिए हर संभव प्रयास किए गए। जैसलमेर जिले के फतेहगढ़ पंचायत समिति के प्रधान जनक सिंह भाटी द्वारा अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (ए.जी.ए.एल.) से इस रोग के रोकथाम के लिए दवाइयों के प्रबंध करवाने की विनती की गई ।

 

ए.जी.ए.एल. के स्टेशन हेड आलोक चतुर्वेदी जी (वीपी), धवल पारीख (एजीएम) और गोपाल सिंह देवड़ा (सीएसआर हेड, राजस्थान) के संयुक्त प्रयासों से करीब 2500 संक्रमित गायों के इलाज के लिए जरूरी दवाइयों का प्रबंध कराया गया।

 

अदाणी फाउंडेशन द्वारा जैसलमेर से एजाज़ फुलवडिया, डाॅ. दिनेश शर्मा और प्रमोद शर्मा द्वारा 20/09/2022 के दिन फतेहगढ़ पंचायत समिति एवं पशु चिकित्सालय फतेहगढ़ को दवाइयाँ सुपुर्द की गईं। इस अवसर पर पंचायत समिति के प्रधान श्री जनक सिंह भाटी बीडीओ हिमांशु चौधरी, पशु चिकित्सक डॉ. देवेंद्र कुमार, जिला परिषद सदस्य प्रतिनिधि भगवान सिंह, डांगरी सरपंच त्रिपाल सिंह, लोडिसर सरपंच कमल, रासला सरपंच मुरीद खान, फतेहगढ़ सरपंच नरेंद्र, राघवेंद्र प्रताप सिंह, हरि सिंह हरसाणी, पशु सहायक अभिषेक, यधुवीर आदि उपस्थित रहे।

 

अदाणी फाउंडेशन द्वारा किए गए इस सहयोग के लिए प्रधान जनक सिंह ने बताया कि गोवंश पर आए इस संकट में अदाणी परिवार द्वारा दिया गया सहयोग न केवल गाँव के गरीब परिवारों के लिए राहत होगी, बल्कि गौधन की सेवा का पुण्य भी मिलेगा और अदाणी कंपनी द्वारा भविष्य में भी पशुपालन विकास में सहयोग की उम्मीद जताई।

 

अवसर के परिप्रेक्ष्य में आलोक चतुर्वेदी जी ने बताया है कि अदाणी परिवार द्वारा सीएसआर के तहत प्रशासन एवं जन सहयोग द्वारा सामाजिक व आर्थिक उत्थान के लिए उचित कार्य किए जाएँगे। गोपाल सिंह देवरा ने कहा कि लंपी से ग्रसित करीब 2500 बीमार गायों के घाव को जल्दी भरने, दर्द कम करने व मच्छर चिंचड़ो आदि को दूर रखने के लिए यह दवाइयाँ फतेहगढ़ पंचायत समिति को प्रदान की जाती हैं, जिसका वितरण पशु चिकित्सालय के माध्यम से जरूरतमंद पशुपालकों को किया जाएगा।

 

पशु चिकित्सक डॉक्टर देवेंद्र कुमार ने दवाइयों के उपयोग व मात्रा के बारे में जानकारी दी और समय पर उचित दवाइयों के उपलब्ध कराने पर फतेहगढ़ पंचायत समिति और अदाणी फाउंडेशन का आभार व्यक्त किया।