अवैध खनन संयुक्त अभियान में तीन दिन में 25 हजार टन खनिज जब्त

अवैध खनन संयुक्त अभियान में तीन दिन में 25 हजार टन खनिज जब्त

अवैध खनन संयुक्त अभियान में तीन दिन में 25 हजार टन खनिज जब्त,

एक करोड़ से अधिक की राशि वसूल-एसीएस 

-257 प्रकरणों में 248 वाहन मशीनरी जब्त, 21 एफआईआर दर्ज

-प्रकरण व वाहन जब्ती में जयपुर, खनिज जब्ती में बूंदी व एफआईआर दर्ज कराने में सिरोही आगे

राज्य में अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण के खिलाफ पांच विभागों द्वारा 15 मई से चलाए जा रहे संयुक्त जांच अभियान के तीन दिनों में 257 प्रकरणों में 248 वाहन व मशीनरी आदि जब्त कर एक करोड़ रुपए से अधिक की राशि वसूल की जा चुकी है। अतिरिक्त मुख्य सचिव माइंस डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि वसूल राशि के अलावा 223 वाहन व मशीनरी संबंधित थानों में सुपुर्द होने के साथ ही करीब 25 हजार टन खनिज जब्त किया जा चुका है। अब तक 21 एफआईआर पुलिस में दर्ज कराई जा चुकी है।

डॉ. अग्रवाल ने बताया कि जिला कलक्टर द्वारा माइंस, वन, राजस्व, परिवहन और पुलिस विभाग के संयुक्त जांच दल में राजस्व विभाग से उपखण्ड स्तर के अधिकारी, पुलिस विभाग से उपाधीक्षक स्तर के अधिकारी, परिवहन विभाग से उपनिरीक्षक-निरीक्षक स्तर के अधिकारी और वन विभाग से रेंजर स्तर के अधिकारी लगाये गये हैं। माइंस विभाग से खनिज अभियंता/खनिज अभियंता सतर्कता, सहायक खनिज अभियंता/सहायक खनिज अभियंता सतर्कता, भू वैज्ञानिक एवं तकनीकी कर्मचारी शामिल होंगे। इसके साथ ही विभाग मेें उपलब्ध खनिज रक्षक और बोर्डर होमगार्ड को शामिल किया गया है।

 डॉ. अग्रवाल ने बताया कि अभियान के दौरान तीन दिनों में सर्वाधिक 29 प्रकरण जयपुर में दर्ज करने के साथ ही 30 वाहन की जब्ती व सर्वाधिक 11 लाख 55 हजार 863 रुपये की वसूली की जा चुकी है। जयपुर में अब भी 29 जब्त वाहन मशीनरी थानों में हैं तो 359 टन खनिज जब्त है। राज्य में सर्वाधिक 21346 टन खनिज की जब्ती बूंदी में की गई है। सर्वाधिक 10 एफआईआर सिरोही में दर्ज हुई है। भीलवाड़ा में 22, जोधपुर में 17, अजमेर व सिरोही में 16-16, नागौर में 12 व पाली, टोंक में 11-11 अवैध खनन, परिवहन व भण्डारण के प्रकरण आए हैं।

निदेशक माइंस कुंज बिहारी पण्डया ने बताया कि अभियान के दौरान खान, राजस्व, परिवहन, वन एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों द्वारा अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण के प्रकरणों में अपने अपने विभागीय नियमों के अनुसार सख्त से सख्त निरोधात्मक व कानूनी कार्यवाही के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि संयुक्त दल द्वारा की जाने वाली कार्यवाही के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिला पुलिस अधीक्षक द्वारा पुलिस बल की व्यवस्था की जा रही है। जब्त शुदा खनिजों में प्रमुख रूप से बजरी के साथ ही मेसेनरी स्टोन, फेल्सपार, क्रेशर डस्ट, चाईनाक्ले, सिलिका सैंड, लाईम स्टोन, बेन्टोनाईट, क्रेशर ग्रिट आदि खनिजज है।

अभियान का पर्यवेक्षण अतिरिक्त निदेशक खान सतर्कता मुख्यालय नरेन्द्र कुमार कोठ्यारी कर रहे हैं। अतिरिक्त निदेशक माइंस जोन व एसएमई अपने क्षेत्र में संयुक्त जांच दल से समन्वय बनाए हुए हैं।

एसएमई जयपुर प्रताप मीणा के नेतृत्व में एमई श्रीकृष्ण शर्मा व दल के सदस्यों ने जयपुर में 30 वाहन जब्त किए हैं। बुधवार को ही जयपुर में 8 वाहन अवैध बजरी परिवहन के रेनवाल मांजी, रामनगरिया में एक-एक और प्रतापनगर में दो व बगरू में 4 बजरी के जब्त कर संबंधित पुलिस स्टेशनों में सुपुर्द कराया गया है। इससे पहले आंधी में 2, सांगानेर में 1, मानसरोवर में2, हरमाड़ा में3, प्रतापनगर में 1, चंदवाजी में 1 वाहन बजरी व चेजा पत्थर का अवैध परिवहन करते हुए वाहन जब्त किए गए है।

मीणा ने बताया कि अलवर के राजगढ़ में मार्बल का परिवहन करते चार वाहन, नीम का थाना में एक जेसीबी, कोटपुतली में ग्रिट का एक डम्पर, दौसा में एक डम्पर मेन्टोनाइट, टोंक के मालपुरा में एक डम्पर व मशीनरी जब्त की गई है।

उदयपुर जोन में अतिरिक्त निदेशक महेश माथुर के निर्देशन में कार्यवाही जारी है।