आज से राजस्थान में खेलों का महाकुंभ, मां-बेटी की टक्कर, दादा-दादी भी दिखाएंगे दम

इसमें दो लाख टीमें बनाई गई हैं। जिनमें महिलाएं, बच्चे, बुजुर्ग, लड़के और लड़कियां शामिल हैं। खेलों के आयोजन के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर खेल मैदान तैयार किए गए हैं।

Aug 29, 2022 - 15:48
 0
आज से राजस्थान में खेलों का महाकुंभ, मां-बेटी की टक्कर, दादा-दादी भी दिखाएंगे दम
आज से राजस्थान में खेलों का महाकुंभ, मां-बेटी की टक्कर, दादा-दादी भी दिखाएंगे दम

राजस्थान में सोमवार से खेलों का महाकुंभ राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक शुरू होने वाला है। प्रदेश के लगभग सभी गांव में खेलों के इस महाकुंभ की तैयारियों जोरों से चल रहीं हैं। महिलाएं, बच्चे, बुजुर्ग और युवाओं की टीमें अपने-अपने खेल का अभ्यास करने में जुटी हुईं है।

खास बात है कि इस महाकुंभ में बच्चों के दादा-दादी, चाचा-चाची, नाना-नानी और मम्मी-पापा भी खलते नजर आएंगे। सरकार ने ग्रामीण ओलंपिक में भाग लेने के लिए किसी तरह की उम्र तय नहीं की है। ऐसे में खेलों के इस आयोजन में सभी लोग भाग ले रहे हैं। राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक के लिए सरकार ने 40 करोड़ रुपये खर्च करेगी। इस ओलंपिक में प्रदेश के 30 लाख खिलाड़ी भाग ले रहे हैं।

इसमें दो लाख टीमें बनाई गई हैं। जिनमें महिलाएं, बच्चे, बुजुर्ग, लड़के और लड़कियां शामिल हैं। खेलों के आयोजन के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर खेल मैदान तैयार किए गए हैं। यहां खिलाड़ियों को सभी तरह की सुविधाएं भी दी जाएंगी।ग्रामीण ओलंपिक की शुरुआत 29 अगस्त से हो रही है और यह पांच अक्टूबर तक चलेगा। सोमवार से एक सितंबर तक ग्राम पंचायत स्तर पर खेलों का आयोजन होगा।

इसी तरह से 12 से 15 सितंबर तक ब्लॉक स्तर पर, 22 से 25 सितंबर तक जिला और राज्य स्तर पर 2 से 5 अक्टूबर तक आयोजन होगा। खेल विभाग, ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग, शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग और स्थानीय प्रशासन की साझेदारी से ग्रामीण ओलंपिक का आयोजन जाएगा। ग्रामीण ओलंपिक की एक खास बात यह भी है कि मैदान पर मां-बेटी, देवरानी-जिठानी सहित अन्य रिश्तेदार एक दूसरे के खिलाफ और एक दूसरे के साथ खलते हुए नजर आएंगे।

वहीं, आयोजन को लेकर लोगों का कहना है कि खेल के दौरान मैदान पर आमिर खान की लगान फिल्म जैसा नजारा दिखाई देगा।