डाॅ. एन. के. जैन बने डेयरी एवं खाद्य प्रौद्योगिकी महाविद्यालय के अधिष्ठाता

डाॅ. एन. के. जैन, प्रोफेसर एवं विभागाध्यक्ष, प्रसंस्करण एवं खाद्य अभियांत्रिकी विभाग, सी.टी.ए.ई. ने एम.पी.यू.ए.टी. के डेयरी एवं खाद्य प्रौद्योगिकी महाविद्यालय के अधिष्ठाता का कार्यभार 15 जून को ग्रहण किया। डाॅ. जैन विगत 33 वर्षों से विश्वविद्यालय में प्रसंस्करण एवं कटाई उपरान्त तकनीकी विषयों पर शोद्य व अध्यापन कर रहे है। इनके नेतृत्व में कई किसानोपयोगी मशीनों व तकनीकियों पर उल्लेखनीय कार्य किया गया है। जिसमें ग्वार पाठा, किनोवा, अदरक, लहसुन, दलहन प्रसंस्करण प्रमुख है। हाल ही में इनको आत्मनिर्भर भारत अभियान की 1000 करोड़ रूपये की पंचवर्षीय PMFME (प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग) परियोजना में राज्य सरकार द्वारा नामित किया गया है एवं खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों हेतु प्रशिक्षण के लिए डाॅ. जैन को खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा मास्टर टेªनर भी नियुक्त किया गया है।

सांगरी टुडे हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें