एसएमएस में बनेगा 300 करोड़ की लागत से 22 मंजिला आईपीडी टावर

एसएमएस में बनेगा 300 करोड़ की लागत से 22 मंजिला आईपीडी टावर

प्रदेश के सबसे बडे़ चिकित्सा संस्थान एसएमसएम मेडिकल कॉलेज में भर्ती मरीजों को बेहतर चिकित्सा सुविधा सुलभ कराने के लिए 300 करोड़ रुपए की लागत से 22 मंजिला आईपीडी टावर बनाया जाएगा। आईपीडी टावर का निर्माण कार्य अगस्त माह तक प्रारंभ कर दिया जाएगा।

स्वायत्त शासन मंत्री श्री शांति धारीवाल एवं चिकित्सा मंत्री डॉ. रधु शर्मा ने गुरुवार को एसएमएस चिकित्सालय स्थित कॉटेज वार्ड का दौरा किया एवं प्रस्तावित आईपीडी टावर के स्थान का अवलोकन किया। इस आईपीडी टावर में 22 मंजिला निर्माण कार्य के अतिरिक्त 3 मंजिल बेसमेंट का भी निर्माण किया जाएगा। 

डॉ. शर्मा ने बताया कि प्रस्तावित आईपीडी टावर की 300 करोड़ रुपए की लागत में से 75 करोड़ रुपए स्मार्ट सिटी प्रोजक्ट एवं 50-50 करोड़ रुपए हाउसिंग बोर्ड तथा जेडीए से उपलब्ध कराने के लिए स्वायत्त शासन मंत्री ने सहमति दे दी है। शेष 125 करोड़ रुपए की राशि चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि प्रस्तावित निर्माण स्थल पर बने पुराने कॉटेज को ध्वस्त करने का कार्य आगामी दिनों में ही जेडीए द्वारा प्रारंभ किया जा रहा है।

 50 करोड़ की लागत से बनेगा हृदय  रोग संस्थान 

चिकित्सा मंत्री ने बताया कि एसएमएस अस्पताल परिसर में ही 50 करोड़ रुपए की लागत से हृदय रोग संस्थान का निर्माण करवाया जाएगा। इसके निर्माण के लिए 50 करोड़ रुपए की राशि स्मार्ट सिटी प्रोजक्ट से उपलब्ध हो रही है। उन्होंने बताया कि हद्य रोग संस्थान को हद्य रोग से संबंधित आधुनिकतम उपकरणों से भी सुसज्जित किया जाएगा। 

एसएमएस मेडिकल कॉलेज में प्रस्तावित आईपीडी टावर के अवलोकन के दौरान  प्रमुख शासन सचिव नगरीय विकास श्री कुंजीलाल मीणा, स्थानीय निकाय सचिव श्री भवानी सिंह देथा, चिकित्सा शिक्षा सचिव श्री वैभव गालरिया, जेडीए आयुक्त श्री गौरव गोयल, एसएमएस मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सुधीर भंडारी, एसएमएस अधीक्षक डॉ. राजेश शर्मा सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।




सांगरी टुडे हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें