जानिए किन कारणों से हो सकती है पीरियड्स आने में देरी

अधिकांश महिलाओं एवं युवतियों को पीरियड्स से जुड़ी बहुत सारी समस्याएं होती है। इनकी शिकायत होती है कि पीरियड समय पर नही आते है। महिलाओं पर हुए मासिक धर्म चक्र को लेकर सर्वे में ये बात साफ हो चुकी है कि 9.14 प्रतिशत महिलाओं में पीरियड्स की समस्या होती है। अनियमित माहवारी के कारणों पर प्रकाश डालें तो लगभग 87 प्रतिशत महिलाओं में पीसीओडी अर्थात पॉलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम की वजह से पीरियड अनियमित हो जाते है और सबसे बड़ी बात तो यह होती है की 50 प्रतिशत महिलाओं को इसके बारें में पता ही नही होता है। इसका दूसरा सबसे बड़ा कारण थायराइड है जिसके कारण भी माहवारी में अनियमितता देखने को मिलती है।

आशा आयुर्वेदा की निःसंतानता विशेषज्ञ डॉ चंचल शर्मा का कहना है कि इसके अतिरिक्त अस्त व्यस्त जीवनशैली, धूम्रपान का अधिक से अधिक प्रयोग, समय पर भोजन न करना, अल्कोहल का सेवन, तनाव अनियमित पीरियड के सामान्य कारण है। यदि महिलाओं का हार्मोन का संतुलन ठीक नही रहता है, मोटापा होता है, अनचाहे बाल निकलते है, चिड़चिड़ापन की समस्या होती है, मुंहासे की परेशानी देखने को मिलती है तो यह संकेत आने वाले भविष्य में बांझपन की ओर इशारा करते है। यदि समय रहते हुए इन सभी लक्षणों एवं कारणों पर ध्यान रखते हुए उपचार किया जाए तो समस्या का समाधान शीघ्र ही ठीक होने की पूर्ण संभावना होती है। यह सभी जानकारी आशा आयुर्वेदा की इनफर्टिलिटी एक्सपर्ट डॉ चंचल शर्मा से खास बात चीत के दौरान प्राप्त हुई है । अनियमित पीरियड के इलाज के लिए आशा आयुर्वेदा में संपर्क करें।


सांगरी टुडे हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें